Saturday, October 18, 2008

ये कैसी सजा?

जरा सी भूल की उसे ऐसी सजा मिली, जिसकी उसने कभी कल्पना भी नहीं की होगी।

अगर कोई टीचर बच्चों को होम वर्क देता है और बच्चे उसे नहीं कर पाते हैं, तो जाहिर है कि उसका गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच जाएगा। उसके साथ भी ऐसा ही हुआ।

उसने आठवीं की एक छात्रा को होम वर्क दिया था, मगर वह नहीं कर पाई। तो टीचर ने काले स्केच पेन से उस छात्रा के माथे पर लिख दिया कि मैं पढ़ नहीं सकती। साथ ही, उसका चेहरा भी काला कर दिया। इसके बाद स्कूल के क्लासों में घुमाकर उसकी बेइज्जती भी की।

परिजनों और ग्रामीणों के विरोध के बावजूद भले ही उक्त टीचर को सस्पेंड कर दिया गया हो, पर उक्त छात्रा को जो सदमा पहुंचा है क्या उसकी भरपाई हो सकेगी?

3 Comments:

At October 18, 2008 at 10:50 PM , Blogger Suresh Chandra Karmarkar said...

the teacher should not only be suspended but be removed from the service

 
At October 18, 2008 at 11:30 PM , Blogger राज भाटिय़ा said...

केसे केसे पागल मिलते है इस दुनिया मै.
धन्यवाद इस जानकारी के लिये

 
At October 19, 2008 at 12:26 AM , Blogger Satyawati said...

aisi pagal ko teacher kisane bana diya use to jail me daal dena chahiye

 

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

<< Home