Saturday, February 27, 2010

ये कैसे बाबा

जिस तरह हाथी के दांत दिखाने के लिए और होते हैं और खाने के लिए और, ठीक उसी तरह होते हैं संत। ये दूसरों को तो उपदेश देते फिरते हैं कि तुम ऐसा करो-वैसा करो, और खुद क्या कुछ नहीं करते। दिखावे के लिए भले ही ये लंबा तिलक लगात हों, लाल-पीले कपड़े पहनते हों पर न तो ये मन पर काबू पा सकते हैं और न ही इंद्रियों पर। कुछ ऐसे भी हैं जो जिम्मेदारी तो निभा नहीं सके और बन गए संत। न तो आचरण सही है न ही संयम है और न ही शर्म, फिर भी बन गए संत। ऐसे में ये भगवान के नाम पर दुकानदारी नहीं चलाएंगे तो और क्या करेंगे? लोग जिन्हें पूजते हैं, देखिए वे क्या गुल खिलाते हैं।

दिल्ली में एक ऐसा ढोंगी बाबा पकड़ा है, जो भगवा चोले की आड़ में हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट चलाता था। बाबा के साथ छह काल गर्ल व एक दलाल को भी पकड़ा गया। पकड़ी गई कालगर्ल में एक सिंबायसिस पुणे की एमबीए की छात्रा, एक दक्षिण दिल्ली के गार्गी कॉलेज की छात्रा, दो एयर होस्टेस व दो अच्छे परिवारों की लड़कियां हैं। बताया जाता है कि अधिक पैसा कमाने व ऐशोआराम की जिंदगी जीने की चाह में ये इस धंधे में आई थीं।

ढोंगी बाबा उत्तर प्रदेश में इच्छाधारी संत के नाम से जाना जाता है। यह खुद को इच्छाधारी बताता था। धार्मिक प्रवचन देने वाला बाबा सेक्स रैकेट से लेकर पोर्न साइट का धंधा चला रहा था। बाबा 12 साल से सेक्स रैकेट चला रहा था। दिल्ली पुलिस ने पहली बार वर्ष 1997 में उसे देह व्यापार के आरोप में गिरफ्तार किया था। लेकिन जेल में सजा काटने के बाद उसने दोबारा धंधा शुरू कर दिया। लेकिन इस बार उसने तरीका बदल दिया था। पुलिस की निगाहों से बचने के लिए उसने प्रवचन देना शुरू किया और चेले रख लिए थे, जो उसके प्रवचनों का प्रचार-प्रसार करते थे।

प्रवचन सुनने आने वाली लड़कियों को ही उसने ऊंचे ख्वाब दिखाकर निशाना बनाना शुरू कर दिया। वह दिल्ली के बदरपुर इलाके में स्थित साई बाबा के मंदिर में ध्यान भी करने जाता था। ऐसे ढोंगी बाबा कब तक ओछे हथकंडे अपनाते रहेंगे, और हम सब लमाशबीन बने रहेंगे।

ऐड देखो, पैसा कमाओ

-उक्त विज्ञापन पर क्लिक करके साइट पर जाएं
-ई-मेल आईडी भरकर रजिस्टर करएं(रजिस्टर करते समय ध्यान रखें कि Referred ID में 171909 पर टिक करें)
-आपके मेल बाक्स में एक मेल आएगी, उस लिंक पर क्लिक करके कंफरमेशन करें।
-अपना प्रोफ़ाइल सही भरें, ताकि चेक मिले तो आप तक ही पहुंचे।
-बस, विज्ञापन देखिए और खाते में अंक और पैसा जुड़ते देखिए -दिन में एक बार

3 Comments:

At February 27, 2010 at 6:07 AM , Blogger Udan Tashtari said...

ऐसे बाबाओं से भगवान बचाये.

 
At February 27, 2010 at 7:28 AM , Blogger श्यामल सुमन said...

बंद आँख जब तक करें बाबा पर विश्वास।
संतों के इस रूप में बहुत लुटेरे खास।।

होली की शुभकामनाएं।

सादर
श्यामल सुमन
09955373288
www.manoramsuman.blogspot.com

 
At February 27, 2010 at 2:12 PM , Blogger पं.डी.के.शर्मा"वत्स" said...

ये समाजिक पतन की पराकाष्ठा है...

 

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

<< Home